Categories

Posts

हिन्दुओं को मुस्लमान बनाने के “सेक्युलर” उपाय

8 वीं शताब्दी में मुहम्मद बिन क़ासिम से आरम्भ हुई इस्लामिक आंधी, गौरी,गजनी, तैमूर लंग आदि से होती हुई 17 वीं शताब्दी में नादिर शाह तक चली। यह मतान्धता करीब…

‘संख्या’ बढ़ते ही मुसलमान आक्रामक क्यों हो जाते हैं?

धर्मांधता किसी की भी हो, हिन्दू, सिख, मुसलमान या ईसाई, मानवता के लिए खतरा होती है। जिस-जिस धर्म को राजसत्ता के साथ जोड़ा, वही धर्म जनविरोधी, अत्याचारी और हिंसक बन…

मैं नास्तिक क्यों हूँ – भगतसिंह

शहीद भगतसिंह की यह छोटी सी पुस्तक वामपंथी, साम्यवादी लाबी द्वारा आजकल नौजवानों में खासी प्रचारित की जा रही है, जिसका उद्देश्य उन्हें भगत सिंह के जैसा महान बनाना नहीं…

बंगलादेश में हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार पर सोनिया गांधी, राहुल गांधी और मीडिया खामोश क्यों

मानसिक रूप से रोगी कुछ समलैंगिक लोगों को सुधारने के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गये फैसले कि निंदा करने में राष्ट्रीय माता और राष्ट्रीय शहजादे ने तनिक भी देर…

महिषासुर शहादत दिवस-एक और पाखंड की शुरुआत

तथाकथित बौद्धिक समाज की राजधानी कहे जाने वाले जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में 17 अक्टूबर को महिषासुर शहादत दिवस मनाया गया। यह कार्यक्रम यहाँ पर तीसरी बार आयोजित हुआ है। महिषासुर…