Categories

Posts

जय दयानन्द ऋषिवर प्रवर

जय-जय सद्गुण-सदन साधु सद्धर्म सुधारक। जय जय विमल विवेक विबुध वर वेद-विचारक।। जय धर्म-धुरन्धर धीर धर, आर्य जाति के ध्रुव धवल। जय दयानन्द ऋषिवर प्रवर, देशभक्ति-सर शुचि कमल।। जय अति…

आधुनिक समाज में दशहरा के पर्व की उपयोगिता

हर वर्ष दशहरा या दीपावली के निकट कुछ कुतर्की लेख विचारों की अभिव्यक्ति के नाम पर तथाकथित साम्यवादी विचारधारा के लोगो द्वारा भिन्न भिन्न मंचों से प्रकाशित किये जाते हैं।…